अभ्युदय

Just another weblog

15 Posts

10269 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 4258 postid : 85

एक निवेदन उनके प्रति है-

  • SocialTwist Tell-a-Friend

index

आओ मिलकर दीप जलाएं,
अंधकार को दूर भगाएं |


जब तक फैला है बाहर गम ,
नहीं भगेगा अंतस का तम |

स्वार्थ से हम बाहर निकलें ,
देखें उन बच्चों की शक्लें |


जिनकी किस्मत अंधकारमय,
कोई न जिनके जीवन में लय |


लाचारी बनी ताज है सिर का ,
वह भी दीपक हैं किसी घर का|


जिनके सिर पर कोई न छत है ,
एक निवेदन उनके प्रति है …….|


घी का एक दिया कम कर देंगे,
तो भी अँधेरा ना भटकेगा |


वही दिया “उनके” घर आँगन,
टिमटिम जुगनू सा चमकेगा |


जब उनका घर रहे न खाली,
तभी मनेगी सही दिवाली ||


index.

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

835 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Lonitra के द्वारा
July 11, 2016

I’d happily being a reviewer. I would like to think I’m fair, and open to new ideas, and as I’m about to move home and set up a brand spanking new home office I’d like to get inspiration about what products this new office cosuu/lhodld include.

shuklabhramar55 के द्वारा
November 2, 2011

प्रिय डॉ कैलाश जी अभिवादन ..अति सुन्दर ..कोमल भाव लिए प्यारी रचना बहुत सुन्दर आग्रह और निवेदन सीख और शिक्षा देती रचना ..काश लोग इन छवियों को देखें और और कुछ हिस्सा ……. बहुत बहुत आभार आप का …देवी की कृपा से आनंद आ गया ….शुक्ल भ्रमर ५ घी का एक दिया कम कर देंगे, तो भी अँधेरा ना भटकेगा | वही दिया “उनके” घर आँगन, टिमटिम जुगनू सा चमकेगा |

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    December 20, 2011

    आदरणीय शुक्ल जी, सादर प्रणाम ! उत्साहवर्धन एवं आभार हेतु आपका हार्दिक आभार !

    Sticky के द्वारा
    July 11, 2016

    I just came back from Disney yedrtesay. I have to say there is no rspceet for DVC Members. The front desk clerk told me they changed the valet policy overnight. The free dinning plan for nov DVC members is what really has me upset. I think we should ban together and get them to something about the meal plan. They want us to purchase additional points. I refuse until they give us something in return. We should at least be entitled to what the general public gets

UMASHANKAR RAHI के द्वारा
October 29, 2011

सुन्दर भाव ………………बधाई !

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    December 20, 2011

    आदरणीय भाई साहब , सादर प्रणाम ! बधाई हेतु आपका हार्दिक आभार !

    Lina के द्वारा
    July 11, 2016

    au contraire, il s’agit selon moi du fait que les femmes ont une plus grande dignité. Je ne fais jamais le ménage dans la considération « d’avoir fait mon devoir de femme d’intérieur », mais bien car je souhaite montrer à chacun de mes invités que je vis dans un endroit de goût.S’imaginer qu’il puisse s’agir d’un &lpqno; instiuct&nbsa;» féminin en dit long sur votre perception de la chose…

sadhana thakur के द्वारा
October 27, 2011

कैलाश जी ,बहुत ही पवित्र सोच ,काश सबके दिल में ये भावना आये …………

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 27, 2011

    आदरणीय दीदी जी, सादर प्रणाम ! काश………………………………..

    Burchard के द्वारा
    July 11, 2016

    Pukovnik ParelmoSont-elles des menaces ?Comment comptez-vous les exécutez ?Selon le même mode opératoire des Moukhabarates ?Voiture piégée ?OuAssassinat ciblée ?Comment ?

vinitashukla के द्वारा
October 27, 2011

सुन्दर उद्गार कैलाश जी. काश ऐसी संवेदनशीलता सबके दिलों में होती!

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 27, 2011

    आदरणीय विनीता जी सादर अभिवादन ! आभार !

    Honey के द्वारा
    July 11, 2016

    Was für ein wundervolles Thema und schon Challenge #100, da mußte ich doch auch unbedingt mitmachen.Die Werke des Teams sind alle wundervoll, dickes Lob an euV..h…cielleicht habt ihr ja auch Lust bei mir auf dem Blog vorbeizuschauen, ich würde mich sehr über euren Besuch freuen.Einen lieben Gruß von Andrea

Dr. SHASHIBHUSHAN के द्वारा
October 27, 2011

ऐसी यह प्रचण्ड आँधी है, ऐसा है विकराल बवण्डर, नाम गरीबी, समा गई है लाखों जनता इसके अन्दर। जबतक इसका मरण न होगा सुखी नहीं होगा कोई, कुछ प्रयास ऐसा हो सबका, छा जाये खुशियों का मंजर।

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 27, 2011

    आदरणीय डॉ.साहब सादर अभिवादन! सर्वप्रथम “अभ्युदय” पर प्रथम प्रतिक्रिया के लिए आपका बहुत-बहुत आभार | बहुत खूब ……..इन पंक्तियों की जितनी प्रसंसा की जाय उतनी कम है ………….बहुत सुन्दर |

    Missi के द्वारा
    July 11, 2016

    The very core of your writing whilst appearing agreeable initially, did not really work properly with me personally after some time. Someplace throughout the sentences you actually managed to make me a believer but only for a short while. I however have a problem with your jumps in logic and one might do nicely to help fill in all those breaks. When you can accomplish that, I could surely end up being fatsdnacei.

jlsingh के द्वारा
October 27, 2011

डॉक्टर साहब,नमस्कार! बहुत ही मार्मिक पक्तियां लिखी है आपने, साथ ही मर्मान्तक चित्रों का समायोजन भी कारुणिक दृश्य पैदा करता है. दीपावली की शुभकामनाएं! काश हम सभी एक एक घर को भी प्रकाशित करने का बीरा उठा लें तो ये चित्र देखने को न मिलेंगे.

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 27, 2011

    आदरणीय जे.एल.सिंह जी सादर अभिवादन! सर्वप्रथम “अभ्युदय” पर प्रथम प्रतिक्रिया के लिए आपका बहुत-बहुत आभार | यदि आप जैसे शुभ विचार सबके मन में हो तो वास्तव में ऐसा ही होगा | आपको तथा आपके पूरे परिवार को दीप पर्व की बहुत बहुत शुभ कामनाएं |

    Lexus के द्वारा
    July 11, 2016

    / eu acho que o mundo ñ vai acabar se amanhã eu vor para a cahrueca eu vou esta vivo eu a minha irã e meu primo e meu pai em vargem grande se o mundo acabar ja era

Syeds के द्वारा
October 27, 2011

आदरणीय डाक्टर कैलाश साहब, बेहद खूबसूरत सन्देश देती रचना…असली उजाला तब होगा जब हम भारत से गरीबी,बेरोज़गारी, अशिक्षा,भ्रष्टाचार जैसी अन्धकार फैलाने वाली चीज़ों को दूर कर देंगे.. दीपपर्व की हार्दिक शुभकामनाएं.. http://syeds.jagranjunction.com

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 27, 2011

    आदरणीय सैयद एस. साहब सादर अभिवादन ! आपने ठीक लिखा है ……. आपको तथा आपके पूरे परिवार को दीप पर्व की बहुत बहुत शुभ कामनाएं |

    Vinny के द्वारा
    July 11, 2016

    world net daily? yee gadsDuring World War II, there were even Jews who collaborated with the Nazis and participated in sending their fellow Jews to death. They became known as 02Hitler‣s Jews.” Today, we have “Hollywood Jews,” beautiful people who are so deluded in their leftist ideology that they do not even know, or want to know, what is good for them and their families. triple choke!

abodhbaalak के द्वारा
October 26, 2011

देवाली का वास्तविक सन्देश रचना कैलाश जी, जो हृदय को टच …… आपको सपरिवार दीवाली के ढेरो बन्धाइयन http://abodhbaalak.jagranjunction.com/

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 26, 2011

    आदरणीय भाई साहब सादर प्रणाम! आपको तथा आपके पूरे परिवार को दीप पर्व की बहुत बहुत शुभ कामनाएं |

manoranjanthakur के द्वारा
October 26, 2011

सभी को मुबारक

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 26, 2011

    आदरणीय भाई साहब सादर अभिवादन ! आपको तथा आपके पूरे परिवार को दीप पर्व की बहुत बहुत शुभ कामनाएं |

    Buck के द्वारा
    July 11, 2016

    Olá, muito obrigada pelos episódios que vcs disponibilizaram do O Astro, afinal é exibido muito ta03;&#82dreGostaria de saber se vcs irão continuar a postar esses episódios?Valeu!!!

Lahar के द्वारा
October 26, 2011

डॉ. साहब नमस्कार आपकी कविता दिल को छू गयी दिवाली तभी अच्छी होगी , जब इन बच्चो की जिंदगी में प्रकाश आएगा | आपको तथा आपके पुरे परिवार को दीप पर्व की बहुत बहुत शुभ कामनाएं |

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 26, 2011

    आदरणीय भाई साहब सादर अभिवादन ! आपकी सराहना हेतु धन्यवाद ! आप और आपके पूरे परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएं |

    Zaiyah के द्वारा
    July 11, 2016

    Oh dear… that is so lovely! Thanks for sharing this personal moment with us! I am one of the oldest cousin in my family and I still see my little cousins as kids, the;#&39yre so grown up now (or try to be! lol).CJR

Santosh Kumar के द्वारा
October 26, 2011

आदरणीय डॉ. साहब ,.सादर नमस्कार मानवीय दीपावली मनाने का सन्देश देती रचना के लिए आपका हार्दिक आभार ,….दीपावली तब ही शुभ होगी जब हर अँधेरा रोशन होगा ,..आपका निवेदन दिल छु गया ,..पुनः आभार आपको सपरिवार दीपपर्व की हार्दिक शुभकामनाये

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 26, 2011

    आदरणीय भाई साहब सादर प्रणाम ! आपने मेरी बात समझी , धन्यवाद ! आप और आपके पूरे परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएं |

    Ellyanna के द्वारा
    July 12, 2016

    excuse me, did someone just say j. cole doesn’t have any legit mixtapes??And i respect wiz for grindin like he has, but he is not that special as a rar.pepi’m not checking for any of these dudes except freddie gibbs and j. cole. *kanyeshrug*

akraktale के द्वारा
October 26, 2011

डॉ. साहब सादर नमस्कार, सर्व प्रथम आप और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएं. बहुत सुन्दर रचना की है आपने, अवश्य ही हमें उन लोगों के बारे में भी जरूर सोचना चाहिए जिनके जीवन में दिवाली कभीं है आती. वही दिया “उनके” घर आँगन, टिमटिम जुगनू सा चमकेगा | बधाई!

    Dr.KAILASH DWIVEDI के द्वारा
    October 26, 2011

    आदरणीय भाई साहब सादर प्रणाम ! आपने बिलकुल सही कहा है | आप और आपके पूरे परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभ कामनाएं |

    Ice के द्वारा
    July 12, 2016

    July 14, 2010 at 6:58 amhaM>a/rk,T<e part on smiling is a really good point and one I should have added, so thanks for mentioning that. Many people actually don’t smile and they don’t realize they are not smiling. I used to be one of them. That makes such a huge difference in your initial interaction with another person. Reply


topic of the week



अन्य ब्लॉग

  • No Posts Found

latest from jagran